गॉलब्लैडर (पित्ताशय) और बाईल डक्ट कैंसर

  • 11

गॉलब्लैडर (पित्ताशय) और बाईल डक्ट कैंसर

Gall-Bladderगॉलब्लैडर कैंसर देश में एक गंभीर समस्या बना हुआ है, गॉलब्लैडर कैंसर पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में अधिक होता है। दरअसल पित्ताशय की पथरी वाले लोगों में गॉलब्लैडर कैंसर या बाईल डक्ट कैंसर होने का जोखिम अधिक होते हैं। बाईल डक्ट कैंसर के मामले एशिया में सबसे अधिक पाए जाते हैं। ये लिवर फ्ल्यूहक पैरासाईट, स्लेरोसिंग कोलेनजाईटिस, अल्सिरेटिव कोलाईटिस और साइरोसिस तथा सिरोसिस संक्रमणों से जुड़े होते हैं। कैसे पहचाने गॉलब्लैडर कैंसर और क्या है इसका कारक इस बारे में जानकारी दे रहे हैं जीवक आयुर्वेदा के निदेशक टी के श्रीवास्तव।

पेट के ऊपरी हिस्से में यकृत के नीचे मौजूद पित्ताशय अर्थात गॉलब्लैडर एक छोटा, नाशपाती के आकार के अंग होता है, इसकी कोशिकाओं में अनियंत्रित बढ़त होने पर यह गॉलब्लैडर पित्ताशय और बाईल डक्ट कैंसर बन जाता है।

पित्ताशय के कैंसर के सामान्य लक्षण

पेट दर्द: पित्ताशय के कैंसर में अधिकांश लोगों को पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से में दर्द होता है। यदि पित्त की पथरी या कैंसर पित्त नली (ब्लाॅक) को अवरुद्ध कर रहा है तो तेज दर्द हो सकता हैं।

मतली या उल्टी: पीलिया: पित्ताशय के कैंसर से ग्रसित 50% व्यक्तियों में पीलिया होता है।
पीलिया मे त्वचा और आँखो का सफेद हिस्सा पीला हो जाता है। पीलिया रक्त में बिलिरूबिन (एक रसायन जो पित्त को पीला रंग देता है) के संचयन होने के कारण होता है। पित्त जिगर से आँतो में प्रवाह नही कर पाता। इस वजह से बिलिरूबिन रक्त व उत्तकों में जमा हो जाता हैं। यह खुजली, पीला मूत्र या हल्के रंग का मल जैसे लक्षण पैदा कर सकता है। पीलिया होने का यह मतलब नहीं की आपको पित्ताशय का कैंसर है। पीलिया का एक और आम कारण जिगर में एक वायरस संक्रमण (हैपेटाइटिस) है। लेकिन अगर पीलिया जी.बी.सी के कारण है, तो यह कैंसर के एक उन्नत चरण को इंगित करता है।
पेट में गाँठ: यदि कैंसर का विकास पित्त नलिकाओं को अवरुद्ध कर देता है तो पित्ताशय की थैली का आकार अपने सामान्य आकार से बड़ा हो जाता है। यह पेट के दाहिने हिस्से में एक गाँठ के रूप में उभर सकता है।

जीवनशैली सम्बंधित कारक

मोटापा- अत्यधिक मोटापा विभिन्न तरह के कैंसर के खतरे को बढ़ा देता है जिनमें पित्ताशय का कैंसर भी शामिल है। मोटापे का सीधा संबंध पित्ताशय के कैंसर से है। मोटापे संबंधी कैंसरो से महिलाओं में गर्भाशय का कैंसर और पुरुषों में लिवर कैंसर पहले स्थान पर है और पित्ताशय का कैंसर दूसरे स्थान पर हैं। मोटापा पित्त की पथरी के लिये जोखिम कारक है जिसका पित्ताशय के कैंसर से सीधा संबंध है। ऐसा अनुमान है कि पुरुषो में दस में से एक एवं महिलाओं में पाँच में से एक पित्ताशय के कैंसर का सीधे मोटापे से संबंध है।
आहार: आहार में प्रोटीन और वसा की अधिकता तथा सब्जियों, फलों व फाइबर की कम मात्रा जी.बी.सी के लिये एक जोखिम कारक है।

आयुर्वेद में है इसका इलाज़

आयुर्वेद में रस रसायन का उपयोग कर गॉलब्लैडर कैंसर को पूर्णतः समाप्त किया जा सकता है, जीवक आयुर्वेदा में गॉलब्लैडर कैंसर के विभिन्न मरीजों का इलाज़ हुआ है। बिभिन्न प्रकार के रस रसायन एवं पंचकर्मा विधि का उपयोग कर गॉलब्लैडर कैंसर का इलाज़ सम्भव हुआ है।


11 Comments

Prince Chauhan

August 31, 2017 at 9:11 pm

My mother is suffering from advance gallbladder cancer last one year.

    admin

    January 13, 2018 at 9:46 am

    Dear Prince
    Just Ring Our Helpline: 7704996699

Sanjay chaurasiya

March 26, 2018 at 7:09 pm

My mother is a paitaint ca GB please tell me advice treatment

    admin

    March 30, 2018 at 5:39 am

    Dear Sanjay
    We need more information about the patient, please Ring Our Helpline 7704996699.

K. K. Prsbhakar

April 30, 2018 at 2:05 am

My mother is suffering from advance gall bladder cancer. Any ayurvedic treatment.
Recently it has been found and doctors have suggested for chemotherapy, but her body will not adopt chemo, they have suggested that if if her health will improve then it will be possible thereafter operation. Suggest me

sanjeev kumar

May 13, 2018 at 5:15 pm

My big mother suffering from GB please give me treatment sugestion

    admin

    May 14, 2018 at 11:41 am

    Dear Sanjeev Ji

    We want to know more about your patient. Please ring our Helpline 7704996699.

Anil Kumar Singh

October 18, 2018 at 5:31 pm

My wife aged 62 was suffering from jaundice. We came to know on 25.08.18. After so many tests like ultrasound, ct scan, pet ct scan, mri, Doctors told stone in gall bladder, bile duct blockage and assumed cancer. On 20.09.18 the open surgery was performed and gall bladder was removed. Doctors told that they removed all the cells. Now they are asking for chemotherapy minimum 4 cycles, which costs in total around 4 lacs including room charges in hospital. Whether chemotherapy is necessary ? Whether they can ask for radiotherapy alsi after chemothrapy? Is there any treatment with you in minimum cost.

Sanjay Kumar Maurya

December 17, 2018 at 4:51 pm

Mere father’s ko gall bladder aur lungs me cancer ho gya doctor se consult kiya to unhone bol kemotheripy k liye but wo bahut he jyada weak ho gye h pls rply

Manoj singh

December 27, 2018 at 8:29 am

My mother has cbd cancer plz tell me his treatment

Leave a Reply

Request a Call Back

Your Name (required)

Your Email (required)

Call Back Number(required)

Your Message

WHAT’S NEW

What Patients Say

I was Visited at Jivak Ayurveda for dengue on 26th August 2016. From day one I have been taken good care of by the Jivak team. I felt like I was treated by my own family. I was also very happy about a patient care attendant who gave me a sponge bath and also came to talk to me when ever possible to reduce my dengue anxiety. He even noticed the small red spots on my back and reported to the nurse. It was very nice to see so much compassion. Hats off to all of you. I made it a point to take the na…

I felt like I was treated by my own family

Address

First Floor, Nidhi Complex, Sec-2, Vikas Nagar, Lucknow-226022
7704996699
JivakAyurveda@gmail.com